grandparents day poem in hindi | दादा -दादी के लिये कविता

grandparents day poem in hindi | दादा-दादी के लिये कविता

प्यारे दोस्तों जैसे की आप जानते होंगे की कल यानि 10-09-17 (sunday) को grandparents day  है |यह पोस्ट”

grandparents day poem in hindi | दादा -दादी के लिये कविता” हमारे प्यारे दादा – दादी जी और नाना नानी जी को समर्पित है |एक बच्चे के लिए उसके दादा-दादी और नाना-नानी बहुत ही अहमियत रखते हैं | जब भी हम उनसे  मिलते हैं वो फ़ोरन ही हमें अपने गले  से लगा लेते हैं|

हम अपने grandparents को बहुत ज्यादा दुलारे होते हैं इसीलिए किसी ने ठीक ही कहा है कि मूल से प्यारा ब्याज होता है|

दोस्तों जब भी मम्मी डांटती है तो दादी झट से आकर बचा लेती हैं और तो और नानी भी कभी- कभी मम्मी कि क्लास लगाने से नहीं चूकतीं |जब मम्मी -पापा घर नहीं होते तो grandparents ही हमारा पूरा ध्यान रखते  हैं|

grandparents day poem in hindi | दादा -दादी के लिये कविता

 

दादा – दादी कितने प्यारे

हम इनकी आँखों के तारे

तन चांहे हो बूढ़ा इनका

पर होते जवान दिल वाले

मम्मी – पापा से भी ज्यादा

ये तो घर का ध्यान रखें

टोका – टाकी करते रहते

आदत से मजबूर बड़े

सुबह – शाम सैर को जाते

आकर हमें व्यायाम कराते

होम – वर्क में हांथ बटाकर

और बहुत सी सीख सीखाते

दोस्त भी ये ही बन जाते

जब कभी हम शोर मचाते

साथ हमारे खेला करते

केरम, लूडो और कराटे

खाने का इन्हे शोक बड़ा

जब मिल जाता है मौका

इनके साथ उठाते हम भी

 बारिश में चाय- पकोड़े का मजा

डांट से पापा की बचाते

जब गंदे मार्क्स आ जाते

पापा को समझकर कहते

भूल गया बचपन में तेरे

कुछ ऐसे ही नंबर थे आते

मुझको अपने दादा- दादी

सारी दुनिया से ज्यादा भाते

मन चाहता ये लोग कभी

हमें छोड़ के नहीं जाते

 

दोस्तों अगर आपको हमारी यह पोस्ट grandparents day poem in hindi | दादा -दादी के लिये कविता

 अच्छी  लगे तो हमें आपने विचारों से अवगत करायेँ |

यह भी पढ़ें :-

 

 

 

 

You May Also Like

Editor sabkamanoranjan

About the Author: Editor sabkamanoranjan

dosto sabkamnaoranjan.in ek hindi poem ki website cum blog he .jisme aapko motivational ,funny,sad,emotional sabhi tarah ki hindi poems padhne ko milengi.sabkamanoranjan me hindi shayri ,hindi wishes,suvichaar,hindi geet ka bhi anutha samavesh he aur bhi bahut kuch content aane wale samay me site me joda jayega.

3 Comments

  1. Hello. I see that you don’t update your page too often. I know that writing posts is boring and time
    consuming. But did you know that there is a tool that allows you to create
    new articles using existing content (from article directories or other pages from your niche)?

    And it does it very well. The new articles are unique and
    pass the copyscape test. You should try miftolo’s tools

  2. It is appropriate time to make some plans for the longer term and
    it’s time to be happy. I’ve learn this publish and if I may I desire to suggest you few attention-grabbing issues or suggestions.
    Maybe you could write next articles regarding this
    article. I desire to read even more things about it!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *